Pages

Followers

Wednesday, June 13, 2012

एक और एक ग्यारह

 एक मशहूर बिहारी कहावत :-

एक और एक ग्यारह होते हैं, बशर्ते  कि  उनके नौ बच्चे हों.

8 comments:

संतोष त्रिवेदी said...

...तब तो निन्यान्बे हो जायेंगे साहब !!

Mukesh Kumar Sinha said...

isko lalu jee kahte hain:D

डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री मयंक (उच्चारण) said...

वाह...
बहुत खूब!

दीपक बाबा said...

वाह...

shikha varshney said...

:):)

अजय कुमार झा said...

:) :) :) :) :) :) :) :) :) :) :) ..गिनिए तो पूरा हुआ कि नय हो

कुमार राधारमण said...

ना भई,लालू का ज़माना तो नहीं रहा अब।

India Darpan said...

बहुत ही बेहतरीन और प्रशंसनीय प्रस्तुति....


इंडिया दर्पण
पर भी पधारेँ।

Post a Comment